शिव धाम' के रूप में गुंजी गांव में विकसित होगा आदि कैलाश का प्रवेश द्वार

आदि कैलाश और कैलाश मानसरोवर के प्रवेश द्वार गुंजी गांव में एक भव्य शिव धाम का निर्माण होने जा रहा है। इस परियोजना के माध्यम से श्रद्धालुओं को और यात्रीगण को एक नया और सुरक्षित द्वार प्राप्त होगा।

होटल, रेस्टोरेंट, स्मारक, ध्यान केंद्र, और भव्य स्मारकों के निर्माण की तैयारी हो रही है, जो श्रद्धालुओं को आत्मा की शांति और सुकून का अहसास कराएंगे। इसमें फोटो गैलरी, म्यूजियम, और भगवान शिव की भव्य मूर्ति शामिल होगी।

कैलाश धाम बनने के बाद मिलेगी पहचान

डेलोयड कंपनी ने इस मास्टर प्लान को बनाने के लिए पहल की है, जिसमें स्थानीय समुदाय के साथ मिलकर काम किया जा रहा है। स्थानीय प्रशासन ने इस परियोजना को स्वदेश दर्शन टू के तहत 75 करोड़ रुपये स्वीकृत किए हैं। पिथौरागढ़ में प्रधानमंत्री मोदी जी के आने के बाद से विकास की लहर तेज हो गई है।

[caption id="attachment_8659" align="aligncenter" width="616"]प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऊं पर्वत और आदि कैलाश दर्शन चित्र का श्रेय: नरेंद्र मोदी जी का फेसबुक पेज[/caption]

इससे पहले इस साल, 13 हजार से अधिक यात्री आदि कैलाश के दर्शन के लिए पहुंचे थे, और यह नया धार्मिक हब उनके लिए एक और सुविधा प्रदान करेगा। गुंजी के बायीं ओर आदि कैलाश तो दायीं ओर ओम पर्वत के सुंदर दृश्यों के साथ, यह एक महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल भी बनेगा।

इस प्रयास के माध्यम से हम आत्मा के साथ-साथ पर्यावरण और स्थानीय समुदाय के विकास में भी योगदान कर रहे हैं। आगामी समय में हम सभी को इस नए धार्मिक और पर्यटन हब का आनंद लेने के लिए आमंत्रित करते हैं।