हेलिकॉप्टर से आदि कैलाश यात्रा करने की पहल का स्वागत

हेलिकॉप्टर से आदि कैलाश यात्रा करने की पहल का स्वागत

हेलिकॉप्टर से आदि कैलाश

हेलिकॉप्टर से आदि कैलाश यात्रा करने की पहल का स्वागत

दिनेश गुरुरानी, संयुक्त कर्मचारी महासंघ कुमाऊं मंडल के प्रदेश अध्यक्ष, ने स्वागत किया है केएमवीएन के माध्यम से सरकारी स्वीकृति के साथ हेलिकॉप्टर से कैलाश यात्रा का प्रस्ताव। उन्होंने बताया कि हाल ही में, कुमाऊं मंडल विकास निगम ने पर्यटन विभाग और निजी कंपनी के अधिकारियों के साथ इस मुद्दे पर सर्वेक्षण भी किया है।

मंगलवार को, कुमाऊं मंडल विकास निगम के माध्यम से, दिनेश गुरुरानी ने यहां सरकार के साथ हेली के माध्यम से आदि कैलाश यात्रा कराने का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि नैनीसैनी से महानगरों के लिए हेलिकॉप्टर से आदि कैलाश सेवा शुरू करने की योजना है, जिससे पर्यटकों को बड़ी सुविधा होगी। हेली सेवा के शुरू होने से जनपद में पर्यटकों की संख्या में वृद्धि होगी।

और पढ़े: हेलीकाप्टर द्वारा कैलाश मानसरोवर यात्रा

उन्होंने यह भी कहा कि आने वाले वर्षों में वाहन मार्ग से यात्रा को बढ़ावा मिलेगा। हेली सेवा का शुरू होना वाहन यात्रा मार्ग पर कोई असर नहीं डालेगा, बल्कि यात्री इसे और अधिक पसंद करेंगे। कुमाऊं मंडल विकास निगम के प्रबंधन ने यात्रा को वाहन मार्ग से बढ़ावा देने के लिए महानगरों में स्थित जनसंपर्क कार्यालयों को लक्ष्य बनाया है।

और पढ़े: काठगोदाम से आदि कैलाश और ओम पर्वत यात्रा (6 रातें और 7 दिन)

उनके अनुसार, अधिकांश यात्री वाहन मार्ग से ही जाते हैं, लेकिन जिन्हें यात्रा मार्ग से जाने में कठिनाई होती है, वे हेली सेवा का उपयोग करेंगे। उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न मंदिरों में, जैसे कि केदारनाथ और बद्रीनाथ, हेली सेवा पहले से ही चल रही है, जिससे पैदल यात्री भी लाभान्वित हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री के आदि कैलास दर्शन के बाद, यहां कई यात्रीगण की इंटरेस्ट बढ़ी है, और अब यहां पर केदारनाथ यात्रा के समान यात्री आने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि प्राचीन यात्रा मार्ग से भी आदि कैलास यात्रा को अब से ही शुरू किया जा सकता है।

आदि कैलाश और ओम पर्वत यात्रा के लिए हेलीकॉप्टर सेवा का विरोध

धारचूला (पिथौरागढ़)। रं समुदाय के लोगों ने हेलीकॉप्टर से आदि कैलाश और ओम पर्वत यात्रा के खिलाफ आपत्ति जताई है। उन्होंने एसडीएम के माध्यम से डीएम को एक ज्ञापन भेजा है, जिसमें कहा गया है कि कुमाऊं मंडल विकास निगम द्वारा एमआई 17 हेलीकॉप्टर से यात्रा कराने की तैयारी का विरोध किया जाएगा।

महासचिव राजेंद्र नबियाल ने समिति के साथ चीन सीमा तक पहुंचने के बाद बताया कि 80 से अधिक स्थानीय ग्रामीणों ने बैंक से ऋण लेकर घर बनाए और वाहन खरीदे हैं। उन्होंने इसे ध्यान में रखकर कहा है कि हेलीकॉप्टर से दो दिन में यात्रा करने के प्रस्ताव पर स्थानीय लोगों का रोजगार और उच्च हिमालय क्षेत्र के पर्यावरण को प्रभावित किया जाएगा। उन्होंने सरकार से इस प्रस्ताव को रद्द करने की मांग की है। इस मौके पर पूर्व पालिका अध्यक्ष अशोक नबियाल, कृष्णा गर्ब्याल, दीपक रोंकली, दीपक दरियाल, रितेश गर्ब्याल, और अन्य भी मौजूद रहे।

और पढ़े: दिल्ली से आदि कैलाश और ओम पर्वत यात्रा (8 रातें और 9 दिन)

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
2 Comments
oldest
newest most voted
Inline Feedbacks
View all comments
Aaryan
2 months ago

Great post! Very informative and well-written. Looking forward to more content from this blog!Thank you

Larry Young
1 month ago

My brother suggested I might like this website. He was totally right. This post actually made my day. You cann’t imagine just how much time I had spent for this information! Thanks!

2
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x