2024 Chardham Yatra: पर्यटन मंत्री ने तैयारियों पर पहली बैठक की, भीड़ प्रबंधन सिस्टम की योजना बनाई

2024 Chardham Yatra: पर्यटन मंत्री ने तैयारियों पर पहली बैठक की, भीड़ प्रबंधन सिस्टम की योजना बनाई

2024 Chardham Yatra: पर्यटन मंत्री

2024 Chardham Yatra: पर्यटन मंत्री ने तैयारियों पर पहली बैठक की, भीड़ प्रबंधन सिस्टम की योजना बनाई

आने वाली चारधाम यात्रा के संदर्भ में, प्रदेश सरकार ने तैयारियों की शुरुआत की है। केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री, और यमुनोत्री धामों में यात्रा करते हुए भी, सरकार ने यात्रियों की संख्या को ध्यान में रखते हुए भीड़ को नियंत्रित करने के लिए एक नई व्यवस्था का अध्ययन और परीक्षण कर रही है। इसके अलावा, केदारनाथ और यमुनोत्री धाम के पैदल मार्ग पर पर्यटकों के लिए क्रूरता को रोकने के लिए कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

महाराज ने बताया कि यात्रा के दौरान श्रीनगर के पास होने वाले भूस्खलन को देखकर, यात्रियों को मार्ग अवरुद्ध होने की जानकारी प्रदान करने के लिए उपाय किए जाएंगे। डंपिंग जोन को समतल कर पार्किंग की वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने सड़कों की मौका मुआयना करने के लिए आरटीओ को निर्देश दिए और पर्यटकों की समस्याओं को सुनने और समाधान के लिए पर्यटन पुलिस को दक्ष करने के लिए अलग से वर्दी निर्धारित की जाए।

पंजीकरण की व्यवस्था ऑनलाइन के साथ ही ऑफलाइन भी उपलब्ध रहेगी।

पिछले वर्ष की भांति, इस वर्ष भी चारधाम यात्रा के तीर्थ यात्रियों के पंजीकरण का आयोजन ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों के साथ किया जाएगा। पर्यटन विभाग ने इसके लिए पूरी तरह से तैयारी की है। पिछले साल, 70 लाख तीर्थ यात्रियों ने इस प्रक्रिया में शामिल होकर अपना पंजीकरण कराया था, जिसमें से 56 लाख से अधिक यात्री ने सफलतापूर्वक दर्शन किए थे।

चारधाम यात्रा के मार्ग पर शौचालय का निशुल्क प्रयोग किया जाएगा।

उत्तराखंड पर्यटन मंत्री सत्यपाल महाराज ने उजागर किया कि यात्रियों की श्रद्धा को ध्यान में रखते हुए, यात्रा मार्ग पर शौचालय का निशुल्क उपयोग करने पर पर्यटकों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। इस संबंध में उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया।

खाद्य वस्तुओं के लिए दरें निर्धारित की जाएगी।

चारधामों में तीर्थ यात्रियों से मनमाने दाम वसूलने की शिकायत मिल रही है। इस मुद्दे को ध्यान में रखते हुए, पर्यटन मंत्री ने खाद्य वस्तुओं की मूल्य निर्धारण करने और इन दुकानों के बाहर लगाने का आदेश दिया है। अनुमानित मूल्य से अधिक वसूलने पर सरकारी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही, केदारनाथ और यमुनोत्री धाम के पैदल मार्ग पर घोड़े खच्चरों और डंडे-कंडी की मूल्यों को भी निर्धारित किया जाएगा।

वेडिंग डेस्टिनेशन के लिए सड़कों को प्राथमिकता दी जाएगी।

महाराज ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण के अनुसार, उत्तराखंड को वेडिंग डेस्टिनेशन के रूप में विकसित किया जाएगा।नए वेडिंग डेस्टिनेशन को ध्यान में रखते हुए, सड़कों का निर्माण प्राथमिकता के आधार पर किया जाएगा।

अभी पैकेज बुक करें: चारधाम यात्रा पैकेज 2024

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
1 Comment
oldest
newest most voted
Inline Feedbacks
View all comments
Ladarius Dare
24 days ago

Your dedication to excellence is inspiring.

1
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x