Upcoming Chardham Yatra 2023: सर्दियों में किस तरह से शुरू करें उत्तराखंड चार धाम यात्रा।

चार धाम यात्रा की शुरुआत 22 अप्रैल 2023 हो चुकी है। चार धाम की यात्रा हमारे हिंदू धर्म में बहुत ही पवित्र व बडी यात्रा मानी जाती है। चार धाम यात्रा का सभी श्रद्धालुओं को बड़ी बेसब्री से इंतजार रहता है। आप सभी जानते हैं कि उत्तराखंड में चार बड़े तीर्थ स्थान हैं। जिनको चार धाम का नाम दिया गया है।

क्या आप जानते हैं कि अब 12 महीनो मे आप चार धाम की यात्रा कर सकते हैं? शायद आपको नहीं मालूम होगा कि हम आपको बता रहे हैं कि अब केवल 6 महीने ही नहीं बल्कि आप 12 महीने तक बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री इन चारों धाम की यात्रा आसानी से कर सकते हैं।

बहुत से लोग यह जानते हैं कि सर्दियों के मौसम में चार धाम यात्रा नहीं होती है? लेकिन ऐसा सोचना आपका गलत है।

अगर आप चाहे तो सर्दियों में भी चार धाम यात्रा कर सकते हैं। सर्दियों में चार धाम यात्रा किस तरह से की जाती है और और चार धाम यात्रा के दौरान आप किस तरह से दर्शन कर सकते हैं। सर्दियों के दौरान चार धाम यात्रा कहां और कैसे करें?

चार धाम की यात्रा के कपाट प्रतिवर्ष अक्टूबर और नवंबर के महीने में बंद हो जाते हैं। जो भी भक्तगण बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री चार धाम यात्रा क्रमशः जोशीमठ, उखीमठ, खरसाली और मुखबा के मंदिर में चार धाम यात्रा करना चाहते हैं तो आप आसानी से कर सकते हैं।

हम यहां आपको चार धाम यात्रा से जुड़े हुए विशेष पैकेज के बारे में भी जानकारी देंगे। हमारे यहां विशेष टूर एंड ट्रैवल पैकेज सर्दियों के लिए भी निर्धारित किए गए हैं। अगर आप भी सर्दियों में चार धाम की यात्रा के साथ अन्य और प्राचीनतम मंदिरों का दर्शन करना चाहते हैं तो उन सभी को भी इस पैकेज में शामिल किया गया है। जिसका आप भरपूर आनंद प्राप्त कर सकते हैं।

चार धाम यात्रा की शुरुआत

उत्तराखंड के चार धाम तीर्थ की शुरुआत इस साल अप्रैल माह से शुरू हो गई थी। यात्रा के अंतर्गत गंगोत्री धाम के 22 अप्रैल के दिन सभी श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए खोल दिए गए थे। वही यमुनोत्री धाम की यात्रा की शुरुआत भी 22 अप्रैल के दिन से शुरू कर दी थी। केदारनाथ हमारे 12 ज्योतिर्लिंग में से एक प्रमुख ज्योतिर्लिंग है। केदारनाथ के कपाट केवल 6 माह के लिए ही श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए खोले जाते हैं। इस साल केदारनाथ के दर्शन 25 अप्रैल को सभी श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए। वही बद्रीनाथ के कपाट 27 अप्रैल के दिन सभी भक्तजनों के लिए खोल दिए गए इस तरह से 2023 की चार धाम तीर्थ यात्रा की शुरुआत हो चुकी है। और पढ़ें ....

सर्दियों के लिए चार धाम यात्रा की शुरुआत

सर्दियों में चारों धाम यात्रा पूर्ण रूप से स्थगित कर दी जाती है। सर्दियों के दिनों में भारी बर्फबारी की वजह से मंदिर प्रशासन ही पट बंद करने के लिए मजबूर हो जाते हैं क्योंकि मंदिर तक पहुंचने के लिए आने जाने का रास्ता बिल्कुल बंद हो जाता है। सर्दियों के मौसम में केदारनाथ मंदिर की मूर्ति को उखीमठ के ओमकारेश्वर मंदिर में ले जाया जाता है।

वहीं दूसरी तरफ अन्य मंदिर खरसाली में शनि देव मंदिर यमुनोत्री को , जोशीमठ में वासुदेव मंदिर भगवान बद्री विशाल की मूर्ति और मुखबा में मुखी मठ मंदिर में गंगोत्री सभी पवित्र मंदिर बाकी तीर्थ स्थानों के सर्दियों के लिए घर बन जाते हैं। इनमें यमुनोत्री गंगोत्री बद्रीनाथ की मूर्तियों को सर्दियों के दिन में विराजमान कर दिया जाता है या फिर यूं कहें कि सर्दियों के दिनों में इनका घर ये जगह हो जाती हैं। वहीं पर इनकी पूजा होती है और जो भी भक्तगण श्रद्धालु चार धाम यात्रा करना चाहते हैं तो इन जगहों पर आकर आसानी से चार धाम यात्रा का लुफ्त उठा सकते हैं।

सर्दियों में यात्रा का समय

वैसे आपको बता दें कि यात्रा का समय आपके ऊपर निर्भर करता है आप कितने समय में अपनी यात्रा को पूरा कर सकते हैं या फिर आपने किस जगह से अपनी यात्रा की शुरुआत की है। अगर आप चार धाम की यात्रा की शुरुआत दिल्ली से करते हैं तो आपको यात्रा में 12 से 13 दिन का समय लग सकता है वहीं आप हरिद्वार से चार धाम की यात्रा शुरू करते हैं तो आपको 10 दिन का समय लग जाएगा।

आपको लगता है कि इस तरह से भी आपकी यात्रा में समय अधिक लग रहा है तो आप देहरादून से हेलीकॉप्टर की मदद से भी यात्रा कर सकते हैं इसमें मात्र आपको 5 दिन का समय लगेगा और आप आसानी से चार धाम यात्रा कर पाएंगे।

सर्दियों में होने वाली यात्रा का पैकेज

अगर आप सर्दियों में चार धाम की यात्रा ( गंगोत्री यमुनोत्री बद्रीनाथ केदारनाथ) करना चाहते हैं तो उसके लिए हमारे यहां विशेष तरह के पैकेज की व्यवस्था की गई है। इन चारधाम यात्रा पैकेज में से किसी एक को चुन कर अपनी यात्रा कर सकते हैं। हमारे यहां बहुत ही बेहतरीन पैकेज के अंतर्गत ट्रेवल्स से लेकर गाड़ी, होटल,खाना आदि सभी की उचित व्यवस्था की जाती है। टूरिस्ट पैकेज इस प्रकार है..